प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा संपर्ण हुआ ‘योग से विश्व शांति’ सम्मेलन

0
6358
20 जून 2016, नई दिल्ली |  विश्व योग दिवस के उपलक्ष में प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा आयोजित तीसरी भव्य सार्वजनिक कार्यक्रम, ‘योग से विश्व शांति’ सम्मेलन के रूप में, स्थानीय सिरीफोर्ट सभागार में, आज साम को संपर्ण हुआ। राज्य सभा उपाध्क्ष, श्री पी जे कुरियन मुख्य अतिथि के रूप में सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा की एक समृद्ध और विकासशील  समाज तथा राष्ट्र की नीम एक जागरूक और प्रयत्नशील नागरिक ही है। उनोहने कहा की शांति के बिना व्यक्ति और समाज की विकास असम्भव है। उनोहने आगे कहा की व्यक्ति मन और जीवन में शांति, शक्ति और सन्तुलनता हेतु मन बुद्धि को सर्वशक्तिमान परमात्मा से जोड़ने की जरूरत है। उस जोड़ने की प्रक्रिया को राजयोग कहागया है जिसकी नियमित अभ्यास से व्यक्ति, समाज और विश्व की सभी स्तर में शांति, समृद्धि एवं प्रगति हो सकती है।
प्रसिद्ध प्रेरणादायी आध्यात्मिक वक्ता सुश्री ब्रह्मा कुमारी शिवानी ने कहा की राजयोग एक सूक्ष्म विज्ञान और जीवन जीने की कला है। इसे सहज राजयोग भी कहा जाता है क़्योंकि घर गृहस्त में रहते और सांसारिक कर्तव्य निभाते हुए परमात्मा के स्नेहभरी याद में रहना मुस्किल नहीं है क़्योंकि इसके लाखों अनुयायी अपने जीवन इसकी अनुभव कररहे हैं।उनोहने कहा की इसकी नियमित अभ्यास से हमारे अंतरात्मा परमात्मा से मन बुद्धि से युक्त होकर युक्ति युक्त और श्रेष्ठ कर्म करते है जिसके फल स्वरूप हम आंतरिक पवित्रता, प्रेम, सुख शांति और आनंद रूपी सकारात्मक शक्तिओं से समपर्ण हो जाते हैं और समस्त मानसिक और सांसारिक पीड़ाओं के , जात्नाओं के  दुष्प्रभाव से मुक्त रहते हैं।
उनोहने आगे कहा की यह राजयोग हमे न केवल जीवन को स्वस्थ, सुव्यवस्थित और सुखी बनाता है अपितु दूसरों के जीवन , समाज और विश्व को बेहतर बनाने केलिए सततः  प्रेरित करता है।  अंत में, उनोहने उपस्थित जनसमूह को राजयोग का अभ्यास कराई तथा आंतरिक शांति और शक्ति की अनुभूति कराई। सभी को सकारत्मक, सुखद और सफल जीवन जीने की श्रेष्ठ संकल्प भी दी।
भारत स्थित संयुक्त राष्ट्रसंघ सूचना केंद्र के राष्ट्रीय सूचना अधिकारी श्री राजीव चन्द्रन, ब्रह्मा कुमारी संस्था के मुख्य प्रवक्ता राजयोगी वी के बृजमोहन तथा मुख्य प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर राजयोगिनी वी के आशा आदि अन्य गणमान्य व्यक्तिओं ने भी सभा को सम्बोधित किया।
6526 Total Views: 9 Today Views:

LEAVE A REPLY