जिहादियो ने 4 साल की बच्ची का किया क़त्ल , माँ का किया बलात्कार

0
4340
 रक़्क़ा में मुस्लिम आतंकी संगठन के चुंगुल से जान बचाकर भागी एक महिला ने अल आलम टेलीग्राम चैनल को अपनी आपबीती सुनाई. महिला ने बताया की वो भी एक सुन्नी मुस्लिम ही है, जब इस्लामी स्टेट के जिहादियों ने रक़्क़ा पर कब्ज़ा कर लिया तो अल्पसंख्यकों का क़त्ल किया गया और उनकी महिलाओं को बेचा गया
चूँकि वो स्वयं एक सुन्नी मुस्लिम थी तो उसे छोड़ दिया गया पर उसे इस्लामी स्टेट के कामो में लगाया गया जैसे आतंकियों के लिए खाना बनाना इत्यादि
महिला ने बताया कि  एक दिन वो काम कर रही थी तभी उसकी 4 साल की बेटी आ गयी और वो वहां कुछ करने लगी
इतने में माँ ने उसे बोला की घर जाओ, पर बच्ची ने बचपने में इंकार कर दिया, माँ ने डांटते हुए कहा की “घर जाओ वरना अल्लाह की कसम बहुत मारुंगी”.
ये बात वहां खड़े इस्लामी आतंकी ने सुन ली और उसकी बच्ची को पकड़ लिया और बोला की तुमने अल्लाह की कसम खाई है अब इस बच्ची को मारना ही होगा.
माँ ने इसका पुरजोर विरोध किया पर इस्लामी आतंकी ने बच्ची का सर कलम कर दिया और उसके खून में माँ के हाथ को डुबाया. और माँ को विरोध करने पर अल्लाह का मुजरिम करार दिया और उसका बलात्कार किया गया.
 अल आलम टेलीग्राम को आगे इस महिला ने बताया की आतंकियों ने ताल अयबज स्ट्रीट से लेकर अल नईम चौराहे तक अल्पसंख्यकों की लाशें बिछा दी थी ताकि सब उनकी दहशत में आ जाये
जो मुस्लिम युवक इस्लामी स्टेट का जिहादी बनने से इंकार कर रहा था उसका भी क़त्ल बेरहमी से कर दिया जा रहा था
4772 Total Views: 11 Today Views:

LEAVE A REPLY